What is proton, what is electron, what is neutron? What is the difference between protons, neutrons and electrons? प्रोटोन क्या है, इलेक्ट्रान क्या है, न्यूट्रॉन क्या है? प्रोटोन, न्यूट्रॉन और इलेक्ट्रान में क्या अंतर है?


 प्रोटोन क्या है, इलेक्ट्रान क्या है, न्यूट्रॉन क्या है? प्रोटोन, न्यूट्रॉन और इलेक्ट्रान में क्या अंतर है?




यदि आपने क्लास  10 तक की पढाई की होगी तो आपने प्रोटोन, न्यूट्रॉन और इलेक्ट्रान के बारे में जरूर सुना होगा। लेकिन यदि आपको इसके बारे में नहीं पता है और आप रिपेयरिंग के काम में रुचि रखते हैं तो आपको इन तीनों के बारे में जरूर पता होनी चाहिए।
आपको पता होना चाहिए कि प्रोटोन क्या है, इलेक्ट्रान क्या है, न्यूट्रॉन क्या है? प्रोटोन, न्यूट्रॉन और इलेक्ट्रान में क्या अंतर है? यदि आपको इनके बारे में पता होगा तो इलेक्ट्रॉनिक्स को समझने में आपको बहुत आसानी होगी।
यदि आप इनके बारे में जानना चाहते हैं तो इस पोस्ट को जरूर पढ़ें। इस पोस्ट में आज हम प्रोटोन न्यूट्रॉन और इलेक्ट्रान की पूरी जानकारी हिंदी में देने जा रहे हैं। हम आपको इनके बारे में बेहतर तरीके से समझा सकें इसलिए सबसे पहले आपको पदार्थ, अणु और परमाणु के बारे में जरूर पता होनी चाहिए जिसके बारे में हम नीचे सबसे पहले बताने जा रहे हैं।

1.  पदार्थ क्या है ? और यह कितने प्रकार के होते हैं ?

जो वस्तु कुछ स्थान घेरती है या जिसमें कुछ भार होता है उसे matter या पदार्थ कहा जाता है। साधारणतः इस धरती पर हम जो भी देखते हैं या महसूस करते हैं वो सभी पदार्थ होता है। इस धरती पर मुख्य रूप से 3 अवस्था में पदार्थ पाया जाता है।

I) ठोस पदार्थ क्या है?

जो पदार्थ ठोस रूप में होता है, जिसे हम देख सकते हैं, स्पर्श कर सकते हैं और जिसका अपना रूप होता है उस पदार्थ को ठोस पदार्थ कहते हैं। मोबाइल, लैपटॉप, टीवी. बोतल, कपड़ा, लकड़ी इत्यादि सभी ठोस पदार्थ कहलाते क्योंकि इसे हम देख सकते हैं, स्पर्श कर सकते हैं और इसका अपना एक ख़ास आकार होता है।

II) द्रव पदार्थ क्या है?



जिस पदार्थ को हम देख और छू तो सकते हैं लेकिन उसका अपना कोई आकार नहीं होता है, ऐसे पदार्थ को जिस ठोस पदार्थ में रखा जाये तो वो उसी पदार्थ का रूप ले ले वो द्रव पदार्थ कहलाता है। पानी, तेल, शराब, इत्यादि सभी द्रव पदार्थ होते हैं क्योंकि इन्हें देख और छू तो सकते हैं लेकिन इनका अपना कोई रूप नहीं होता है।
उदाहरण लेते हैं पानी की , पानी एक ऐसा पदार्थ है जिसे हम देखते भी हैं छूतें भी हैं ,लेकिन ये ठोस पदार्थ न होकर द्रव होता है ,क्योंकि इसका कोई निश्चित आकर नहीं होता है। जैसा की हम देखते हैं की पानी को जिस भी बर्तन में रखते हैं पानी का आकर बर्तन के आकर का हो जाता हैं। 

III) गैस या गैसीय पदार्थ क्या होता है?

जिस पदार्थ को न तो हम देख सकते हैं, न ही छू सकते हैं, न ही उसका कोई आकार होता है, लेकिन जिसे हम सिर्फ महसूस कर सकते हैं उस पदार्थ को गैसीय पदार्थ कहा जाता है। हवा और इसमें घुले हुए विभिन्न प्रकार के गैस, गैसीय पदार्थ के श्रेणी में ही आते हैं क्योंकि इन्हें सिर्फ महसूस किया जा सकता है।

2. Molecule या अणु क्या होता है ?

अणु किसी भी पदार्थ का वो छोटा सा कण होता है जिसमे उस पदार्थ का सारा गुण पाया जाता है, चुँकि अणु पदार्थ का ही छोटा होता  है, इसलिए एक अणु भी पदार्थ ही होता है।
 अणु के उदाहरण,  चीनी का एक दाना ले लीजिये और उसे छोटे-छोटे कणों में चूर दीजिये। अब उन कणों में से कोई एक कण अपने मुंह में डालिए तो आपको वो कण भी चीनी के जैसे मीठा ही लगेगा। अर्थात चीनी के कण में भी चीनी का सारा गुण मौजूद होता है।
फिर इसके बाद इनमें से एक कण को लीजिये और उसे भी चूर दीजिये (सिर्फ उदाहरण के लिए मान लीजिये)। और फिर इसके बाद जो कण आपको मिलेगा उसे भी चूर दीजिये और सभी के स्वाद को अपने मुंह में चेक कीजिये।
एक समय ऐसा आएगा जब कोई कण आपको मीठा नहीं लगेगा (माना जा रहा है)। जो कण आपको मीठा नहीं लगेगा उसको आपने जिस कण को चूरकर प्राप्त किया था वो ही अणु कहलायेगा क्योंकि चीनी का गुण सिर्फ उसी कण तक है और उसके बाद उसके छोटे टुकड़े को चुरने के बाद चीनी का गुण समाप्त हो जाता  है।

3. Atom  या परमाणु क्या होता है ?  



ऊपर हमने अणु के बारे में बताया था कि अणु किसी भी पदार्थ का वो सूक्ष्म कण होता है जिसमें उस पदार्थ का सभी गुण मौजूद होता है। लेकिन परमाणु किसी भी पदार्थ का वो सूक्ष्तम (छोटे-से-छोटा) कण होता है जिसको उससे ज्यादा टुकड़ा नहीं किया जा सकता। परमाणु में किसी भी पदार्थ का सारा गुण मौजूद नहीं होता है।
परमाणु एक मीटर लम्बाई के अरबवें हिस्से से भी छोटा होता है और परमाणु के केंद्र को नाभिक या केन्द्रक कहते हैं।
सिर्फ उदाहरण के लिए मान लेते हैं कि मोबाइल एक पदार्थ है। अब इस मोबाइल का बैटरी इसी मोबाइल का एक टुकड़ा होगा लेकिन ये अणु नहीं होगा क्योंकि बैटरी में मोबाइल का गुण नहीं है। लेकिन यदि इस बैटरी को और टुकड़ों में विभक्त न किया जा सके तो ये परमाणु कहलायेगा।

पदार्थ, अणु और परमाणु की परिभाषा से आप निम्नलिखित बातों को समझ सकते हैं।




  1. हरेक पदार्थ में अणु और परमाणु मौजूद होता है। अर्थात हरेक पदार्थ, अणु और परमाणु से मिलकर बना होता है।
  2. हरेक अणु में परमाणु मौजूद होता है लेकिन पदार्थ नहीं मौजूद होता है। अर्थात हरेक अणु, कई परमाणुओं से मिलकर बना होता है।
  3. किसी भी परमाणु में न तो अणु मौजूद होता है और न ही पदार्थ। अर्थात हरेक परमाणु किसी भी पदार्थ का सबसे सूक्षतम रूप होता है जिसे विभक्त नहीं किया जा सकता।
  4. पदार्थ > अणु > परमाणु

परमाणु की संरचना कैसी होती है ?

ऊपर हमने बताया कि परमाणु किसी भी पदार्थ का सबसे छोटा कण होता है जिसे विभाजित नहीं किया जा सकता। लेकिन एक बात ये भी है कि परमाणु भी निम्नलिखित तीन मौलिक कणों से मिलकर बना होता है।


1) प्रोटोन (Proton) क्या है?

प्रोटोन किसी भी परमाणु के नाभिक में मौजूद होता है और प्रोटोन पर धनात्मक + आवेश होता है।

2)  इलेक्ट्रान (Electron) क्या है?

इलेक्ट्रान किसी भी परमाणु के नाभिक के चारों ओर विभिन्न कक्षाओं में चक्कर लगाता हुआ मौजूद होता है और इलेक्ट्रान पर ऋणात्मक – आवेश होता है।



इलेक्ट्रान की विशेषता क्या है?

किसी भी पदार्थ के परमाणु के इलेक्ट्रान से सम्बंधित कुछ बातें नीचे बताये जा रहे हैं।
  1. प्रोटोन किसी भी परमाणु के केन्द्रक में मौजूद होता है जबकि इलेक्ट्रान उसी केन्द्रक के चारों ओर बने कुछ कक्षाओं पर चक्कर काटता रहता है।
  2. किसी परमाणु में कितने प्रोटोन या इलेक्ट्रान हैं उसी आधार से उस परमाणु के केंद्रक के चारों ओर कक्षा बने होते हैं।
  3. पहली कक्षा में अधिकतम 2 इलेक्ट्रान, दूसरी कक्षा में 8, तीसरी कक्षा में 18, इत्यादि इलेक्ट्रान अधिकतम होते हैं।
  4. जब तक पिछली कक्षाओं पर इलेक्ट्रान की संख्या पूरी नहीं होती है तब तक अगले कक्षा में इलेक्ट्रान नहीं जा सकते।
  5. किसी भी परमाणु के nवें कक्षा में अधिकतम 2n² इलेक्ट्रान ही हो सकते हैं। किस कक्षा में कितने इलेक्ट्रान होंगे इसी सूत्र से आप इलेक्ट्रान की संख्या निकाल सकते हैं।
  6. परमाणु में उतना ही कक्षा होता है जितने में इलेक्ट्रान आ जाये, बिना इलेक्ट्रान का कोई कक्षा नहीं होता।

प्रोटोन और इलेक्ट्रान में संबंध




  1. किसी भी पदार्थ के परमाणु में प्रोटोन की संख्या और इलेक्ट्रान की संख्या बराबर होती है। अर्थात किसी भी परमाणु में + आवेश और – आवेश समान संख्या में होते हैं।
  2. किसी भी पदार्थ के एक परमाणु के इलेक्ट्रान और प्रोटोन की संख्या उस पदार्थ पर निर्भर करता है। यदि किसी पदार्थ के एक परमाणु में 5-5 प्रोटोन और न्यूट्रॉन हैं तो दुसरे पदार्थ के एक परमाणु में इससे अलग संख्या में भी प्रोटोन और न्यूट्रॉन हो सकते हैं।
  3. प्रोटोन पर धन विद्युत् और इलेक्ट्रान पर ऋण विद्युत् समान मात्रा में होता है।

3) न्यूट्रोन (Neutron) क्या है?

न्यूट्रॉन में कोई आवेश नहीं होता है और ये आवेश रहित होता है। परमाणु में भी न्यूट्रॉन नाभिक में होता है।
नोट:- हमारा मकसद सभी पाठकों को इलेक्ट्रॉनिक्स और रिपेयरिंग के बारे में गहराई से पूरी जानकारी प्रदान कराना है। इसलिए इस पोस्ट का लिखना बेहद ही जरूरी था क्योंकि ये इलेक्ट्रॉनिक्स का बेसिक है।
हमने आज तक जो भी पोस्ट लिखा वो सब अपने ज्ञान के अनुसार लिखा है और आगे भी ऐसा ही होगा लेकिन इस पोस्ट के बारे में गहराई से और बेहतर तरीके से पूरी बात बताने के लिए हमने एक बार फिर से अपने सिलेबस के फिजिक्स किताब का सहारा लिया है।


 दोस्तों ! हमारा ये पोस्ट आपको कैसा लगा कमेन्ट करके हमें जरूर बताइयेगा और यदि पोस्ट पसंद आये तो सोशल मीडिया पर इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना भी न भूलें।

No comments:

Post a Comment

Comment Related Post