Class 12th Short Stories After twenty years in Hindi कक्षा 12 वीं की छोटी कहानियाँ हिंदी में बीस साल बाद

AFTER TWENTY YEARS

In Hindi

यह कहानी O Henry द्वारा लिखित दो दोस्तों की है जो 20 साल बाद मिलने का वादा करते हैं। क्या वे दोनों मिलते हैं ? जानने के लिए अंत तक जरूर पढ़ें।




दो मित्र बॉब तथा जिमी वैल्स मित्र थे। वे न्यूयॉर्क में दो भाइयों के सामान साथ साथ बड़े हुए थे। बॉब 18 और जिमी 20 वर्ष का था। जिमी सीधा-साधा संतोषी व्यक्ति था। वह न्यूयॉर्क को प्यार करता था और उसे छोड़ नहीं सकता था। बॉब धनवान बनना चाहता था।
विदाई बॉब ने अपना भाग्य आजमाने के लिए पश्चिम की ओर जाने का निर्णय किया। जिस दिन वह रवाना हुआ उसे पहली रात को उन्होंने बिग जो ब्रैडी के जलपान गृह में भोजन किया। रात के 10:00 बजे जलपान गृह के बाहर वे विदा हुए। विदा से पहले उन्होंने निर्णय किया कि वे इस तिथि तथा समय पर ठीक 20 साल बाद यहां फिर मिलेंगे। उन्होंने सोचा कि 20 साल में उस में से प्रत्येक खूब धन कमा चुके गा वह जो बनने के लिए जन्मा था बन चुका होगा।

इसे भी  पढ़ें

  1. The Inventor Who Kept His Promise  Act-1
  2. The Inventor Who Kept His Promise  Act-2
  3. The Inventor Who Kept His Promise  Act-1,2 Ques and Ans.
  4. La Belle Dame Sens Merci-The Beautiful Lady Without Mercy
  5. A Heart Touching Story of Socrates In Hindi and Motivational Thoughts
  6. The Psalm Of Life In Hindi And English 
  7. Pen Pal - A Feeling in Hindi And English
 

बॉब का आगमन
अपने वचन के अनुसार बॉब अपने मित्र जिमी से मिलने के लिए आया। वह पश्चिम (शिकागो) से आया था। समय और तिथि वही थी परंतु 'बिग जो' ब्रैडी का जल पानगृह वहां नहीं था। वह 5 वर्ष पूर्व गिरा दिया गया था। अब उसके स्थान पर लोहे आदि के सामान की दुकान थी बॉब उस दुकान के बाहर खड़ा था। अभी 10:00 नहीं बजे थे अतः वह प्रतीक्षा करने लगा।


 जिमी का आगमन अपनी गश्त ड्यूटी पर सिपाही वहां आया वह जिमी था। वह रौंबदार ढंग से चल रहा था। वर्षा का आभास लिए बेहद ठंडी हवा के झोंके चल रहे थे। इसके अतिरिक्त आसपास के लोग रात में देर तक बाहर नहीं रहा करते थे अतः गलियों में आदमी नहीं थे। सिपाही दरवाजों की जांच कर रहा था कि वह ठीक तरह बंद है। वह सड़क पर भी निगाह रख रहा था ।जब उसने बाँब को अंधेरे में खड़ा देखा तो अपनी चाल धीमी कर दी और उसके पास गया।
 दोनों का मिलनजब बॉब ने सिपाही को अपने पास देखा तो कहा कि सब ठीक हैं। वह एक मित्र की प्रतीक्षा कर रहा है। तब उसने दियासलाई की एक तीली जलाकर अपनी सिगार सुलगाया लगाया प्रकाश में सिपाही ने उसे देखा। उसका चेहरा पीला, जबड़ा चौकोर और आंखे तेज थी। और दाई भौंह के पास गांव का एक निशान। वह धनवान लगता था। उसके  स्कार्फ में  हीरे का बड़ा पिन था।

 उनका वार्तालाप जब जिमी  ने बाँब का चेहरा देखा तो उसने पहचान लिया कि वह वही आदमी है जिसकी शिकागो पुलिस को तलाश है । वह सोचने लगा कि क्या करना चाहिए वह बातें करते रहे। बॉब ने उसे दोनों की पूरी कहानी सुनाई किस प्रकार साथ रहते थे। किस प्रकार विदा हुए थे और वह वचन दिया था।

जिमी ने उससे पूछा कि क्या विदा होने के पश्चात उसे अपने मित्र का कोई समाचार नहीं मिला। बॉब ने बताया कि कुछ समय तक उन लोगों ने पत्र लिखें फिर उन्हें पता नहीं कि दूसरा कहां है। परंतु उसे भरोसा है कि जिमी  जीवित होगा तो उससे मिलेगा । वह जिमी से मिलने 1000 मिल आया है। बॉब ने घड़ी देखी जिसके डायल पर छोटे-छोटे हीरे जड़े हुए थे। 10:00 बजने में 3 मिनट बाकी थी।


 जिमी का निर्णय अब जिमी  निर्णय कर चुका था कि उसे क्या करना चाहिए। बॉब उससे मित्र के रूप में मिलने आया था। वह जिमी की प्रशंसा करता रहा था। उसने जिमी के प्रति स्नेह प्रकट किया था ।अतः जिमी उसे गिरफ्तार नहीं कर सकता था वह दूसरे व्यक्ति को भेजेगा। प्रतीक्षा का समय समाप्त हो गया था अतः उसने बॉब से पूछा कि क्या वह कुछ देर अपने मित्र की प्रतीक्षा करेगा। बाँब ने कहा कि वह कम से कम आधा घंटा प्रतीक्षा करेगा। जिमी ने उसे शुभरात्रि कह कर विदा ली और चला गया।


 सादे कपड़े वाला आदमी अब वर्षा हो रही थी और हवा चल रही थी। बॉब प्रतीक्षा करता रहा लगभग 20 मिनट पश्चात एक आदमी आया। वह लंबा था उसने एक लंबा ओवरकोट पहन रखा था और कॉलर कानों तक खड़ा कर रखा था। उसने बाँब को पुकारा बॉब ने समझा कि वह जिमी है। उन्होंने बातचीत की बॉब ने महसूस किया कि जिमी अब दो-तीन इंच लंबा है। उस आदमी ने बाँब को अपने परिचित स्थान पर चलने को कहा वह वहां बात करेंगे। वास्तव में वह उसे पुलिस चौकी पर ले जा रहा था।

बॉब को सच्चाई बताई गयी जब वे साथ साथ जा रहे थे बॉब ने अकस्मात प्रकाश में उसका चेहरा देखा, उस आदमी की नाक पिचकी हुई थी। जिमी की रोमन नाक थी उसने उस व्यक्ति से कहा, "तुम जिमी वैल्स नहीं हो" उस व्यक्ति ने बताया कि उन्हें शिकागो पुलिस से एक तार मिला था। बॉब अब गिरफ्तार है। उसने बॉब को वैल्स का पत्र भी दिया।
 

जिमी का पत्र
जिमी ने लिखा था कि वह ठीक समय पर बॉब से मिलने आया था। जब वो अपने सिगार सुलगाने के लिए माचिस की तीली जलाई तो जिमी ने देखा कि वह वही व्यक्ति है जिसकी शिकागो पुलिस को तलाश थी। परंतु वह उसे गिरफ्तार नहीं कर सका। अतः उसने सादी वर्दी में सिपाही को भेजा।

इसे भी  पढ़ें

  1. The Inventor Who Kept His Promise  Act-1
  2. The Inventor Who Kept His Promise  Act-2
  3. The Inventor Who Kept His Promise  Act-1,2 Ques and Ans.
  4. La Belle Dame Sens Merci-The Beautiful Lady Without Mercy
  5. A Heart Touching Story of Socrates In Hindi and Motivational Thoughts
  6. The Psalm Of Life In Hindi And English 
  7. Pen Pal - A Feeling in Hindi And English





No comments:

Post a Comment

Comment Related Post