Love Shayri in Hindi प्यार शायरी हिंदी मे

💕 Hindi Love Shayri


गुनाह करके सजा से डरते है,
ज़हर पी के दवा से डरते है,
दुश्मनो के सितम का खौफ नहीं हमे,
हम दोस्तों के खफा होने से डरते है।

तुम रूठे रूठे लगते हो,
कोई तरकीब बताओ मनाने की,
मैं ज़िन्दगी गिरवी रख दूं,
तुम कीमत तो बताओ मुस्कुराने की।

चाहत हुई किसी से तो फिर बेइन्तेहाँ हुई,
चाहा तो चाहतों की हद से गुजर गए,


हमने खुदा से कुछ भी न माँगा मगर उसे,
माँगा तो सिसकियों की भी हद से गुजर गये।


संभाले नहीं संभलता है दिल,

मोहब्बत की तपिश से न जला,
इश्क तलबगार है तेरा चला आ,
अब ज़माने का बहाना न बना।



रोज साहिल से समंदर का नजारा न करो,
अपनी सूरत को शबो-रोज निहारा न करो,
आओ देखो मेरी नजरों में उतर कर खुद को,


आइना हूँ मैं तेरा मुझसे किनारा न करो।

धोखा ना देना की तुझपे ऐतबार बहुत है,
यह दिल तेरी चाहत का तलबगार बहुत है ,
तेरी सूरत ना दिखे तो दिखाई कुछ नहीं देता ,
हम क्या करे की तुझसे हमे प्यार बहुत है।



ना गुलफाम चाहिए , ना सलाम चाहिए,
ना मुबारक का कोई पैगाम चाहिए ,
जिसको पी कर होश उड़ जाये ,
लबों पर ऐसा जाम चाहिए। 

कोई कहता है प्यार नशा बन जाता है ,
कोई कहता है प्यार सज़ा बन जाता है ,
पर प्यार करो अगर सच्चे दिल से ,
तो प्यार जीने की वजह बन जाता है।



संभाले नहीं संभलता है दिल,

मोहब्बत की तपिश से न जला,
इश्क तलबगार है तेरा चला आ,
अब ज़माने का बहाना न बना।
हम तुमसे दूर कैसे रह पाते,
दिल से तुमको कैसे भूल पाते,
काश तुम आईने में बसे होते,
ख़ुद को देखते तो तुम नज़र आते।
इन आखों को समझ पाने वाला चाहिए,
रोते हुये दिल को हँसाने वाला चाहिए,
यु तो मिल जाते है प्यार जताने वाले बहुत,
पर हमे तो प्यार निभाने वाला चाहिए
Gujre Lamho Mein Sadiyan Talaash Karta Hoon. 
Pyaas Gehri Hai Ke Nadiyaan Talaash Karta Hoon, 
Yahaan Sab Log Ginaate Hain Khoobiyan Apni, 

Main Apne-Aap Mein Kamiyan Talash Karta Hoon.

Jo Kehte The Humse Hain Tere Sanam, 
Wo Daga De Gaye Dekhte-Dekhte. 



Dete Mohabbat Ka Inaam Kya, 
Wo Sazaa De Gaye Dekhte-Dekhte. 

Sochta Hoon Ke Wo Kitne Masoom The, 
Jo Bewafa Ho Gaye Dekhte-Dekhte.

Kaash Banaane Wale Ne DIL Kanch Ka Banaya Hota, 


Dil Todne Wale Ke Haathon Mein Zakhm To Aaya Hota, 
Jab Bhi Wo Dekhta Apne Haathon Ki Taraf, 
Kam Se Kam Use Mera Khayal Ho Aaya Hota.

Syaah Raat Mein Jalte Hain Jugnuon Ki Tarah, 
Dilon Ke Zakhm Bhi Dosto Kamaal Hote Hain.
Ye Gustakh Dil Na Jane Kya Kar Baithha, Mujhse Bina Puchhe Hi Faisla Kar Baithha, Iss Dharti Par Toota Sitara Bhi Nahi Girta, Aur Ye Pagal Chaand Se Mohabbat Kar Baithha.
Tamaam Logon Ko Apni Apni Manjil Mil Chuki, 
Kambakht Humara Dil Hai Ke Ab Bhi Safar Me Hai.

Roj Pilata Hu Ek Zeher Ka Pyala Use,
Ek Dard Jo Dil Mein Hai Marta Hi Nahi Hai.
रोज़ पिलाता हूँ एक ज़हर का प्याला उसे,
एक दर्द जो दिल में है मरता ही नहीं है
Dard Mohabbat Ka Ai Dost Bahut Khoob Hoga,
Na Chubhega.. Na Dikhega.. Bas Mahsoos Hoga.
दर्द मोहब्बत का ऐ दोस्त बहुत खूब होगा,
न चुभेगा.. न दिखेगा.. बस महसूस होगा।
Log Muntzir Hi Rahe Ke Humein Toota Hua Dekhein,
Aur Hum The Ke Dard Sahte-Sahte Patthar Ke Ho Gaye.
लोग मुन्तज़िर ही रहे कि हमें टूटा हुआ देखें,
और हम थे कि दर्द सहते-सहते पत्थर के हो गए।
Paas Jab Tak Woh Rahe Dard Thama Rahta Hai,
Phailta Jata Hai Phir Aankh Ke Kajal Ki Tarah.
पास जब तक वो रहे दर्द थमा रहता है,


फैलता जाता है फिर आँख के काजल की तरह।
Takleef Ye Nahin Ke Tumhein Azeez Koi Aur Hai,
Dard Tab Hua Jab NajarAndaz Koye Gaye.
तकलीफ ये नहीं कि तुम्हें अज़ीज़ कोई और है,
दर्द तब हुआ जब हम नजरंदाज किए गए।
Apna Koi Mil Jata Toh Hum Phoot Ke Ro Lete,
Yehan Sab Ghair Hain Toh Hans Ke Gujar Jayegi.
अपना कोई मिल जाता तो हम फूट के रो लेते,
यहाँ सब गैर हैं तो हँस के गुजर जायेगी।




No comments:

Post a Comment

Comment Related Post